बिजनौर में गुलदार का आतंक, बच्ची के बाद अब युवक की जान ली

bijnore guldaar
0 0

बिजनौर। नगीना क्षेत्र में गुलदार के हमले में बुधवार की सुबह एक 25 वर्षीय युवक की जान चली गई। ग्राम सैदपुरी महीचंद में सुबह खेत पर घूमने के लिए निकले युवक पर जानलेवा हमला कर गुलदार ने उसे अपना निवाला बना लिया। नगीना क्षेत्र में 2 माह के भीतर गुलदार के हमले में मौत की यह तीसरी घटना है।

गांव जाब्तानगर के मुस्सेपुर में मंगलवार की रात गुलदार एक बच्ची को निवाला बना बना लिया लिया था । गांव जाब्तानगर के मौजा मुस्सेपुर निवासी टेकचंद सैनी ने बताया कि मौजा मुस्सेपुर में तीन चार लोगो के मकान है। समीप ही खेत है। मंगलवार की रात लगभग साढ़े आठ बजे परिजन खाना खाने की तैयारी में लगे थेए तभी अचानक बिजली चली गई।

इसी बीच पहले से ही घात लगाए बैठा गुलदार अचानक खेतो से निकलकर एक घर में आकर उसकी पांच वर्षीय पुत्री खुशी को उठा ले गया। शोर मचाने पर ग्रामीण एकत्र होकर लाठी डंडे लेकर बच्ची की तलाश में निकले लगभग आधा घण्टा बाद बच्ची का शव निकट ही चेतराम सिंह के गन्ने के खेत में मिला।

गुस्साए दर्जनों ग्रामीण बच्ची का शव लेकर बादिगढ़ चौराहे पर पहुंच गए।ग्रामीणों के आने की खबर मिलते ही सीओ अफजलगढ़ पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए।

अब तक हुए गुलदार के हमले

  • -एक सप्ताह से एक के बाद एक प्रतिदिन गुलदार के हमले हो रहे है जिनमें 19 अप्रैल बुधवार को गुलदार ने गांव कासमपुरगढ़ी में खेत की रखवाली करते समय एक 70 वर्षीय वृद्ध को मार डाला था।
  • 20 अप्रैल बृहस्पतिवार को गांव महसनपुर में गन्ने की छिलाई करते समय युवक पर हमला कर जख्मी कर दिया।
  • 21 अप्रैल शुक्रवार को गुलदार ने शाहपुरजमाल निवासी किशोरी को सिरियावाली खेत में मां के साथ गेहूं की कटाई करते समय जख्मी किया।
  • 22 अप्रैल शनिवार की रात फिर गुलदार ने गांव शाहपुरजमाल में एक 6 साल की बालिका पर घर के ऑगन में नल पर पानी पीते हमलाकर जख्मी कर दिया था।
  • 23 अप्रैल की रात अब रेहड़ थाना क्षेत्र में एक बालिका पर हमला कर मार डाला। 25 अप्रैल को गांव मच्छमार में घुसकर एक 7 वर्षीय बालिका पर हमला कर मार डाला
  • उन्होंने ग्रामीणों से सतर्कता बरतने तथा समूह में खेतों पर जाने, बच्चो को अकेला न छोड़ने तथा जंगल में खेतों पर काम करने से पूर्व शोर करने व रेडियों या मोबाइल पर तेज आवाज में गाने बजाने का आह्वान किया है।
advertisement at ghamasaana