शिल्पा शेट्टी कुंद्रा की फ़िल्म “धड़कन” ने मनाया 23 साल का जश्न

0 0

तेईस साल पहले भारतीय सिल्वर स्क्रीन पर धर्मेश दर्शन द्वारा निर्देशित एक रोमांटिक ड्रामा और सदाबहार फिल्म “धड़कन” का जन्म हुआ, जो 11 अगस्त 2000 को सिनेमाघरों में प्रदर्शित हुई। इस फिल्म ने न केवल लाखों लोगों के दिलों पर कब्जा किया बल्कि लोकप्रियता भी हासिल की। इसकी मुख्य अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी कुंद्रा को इस फ़िल्म से स्टारडम हासिल हुआ। आज “धड़कन” अपनी 23वीं वर्षगांठ मना रही है। यह फिल्म की टाइमलेस अपील, मनोरम कहानी और इसके शानदार प्रदर्शन के स्थायी आकर्षण को याद करने का समय है।

“धड़कन” ने शिल्पा शेट्टी के करियर में एक महत्वपूर्ण मोड़ लाया, जिसमें उनकी असाधारण अभिनय क्षमता और बहुमुखी प्रतिभा का प्रदर्शन हुआ। रोमांटिक गाथा प्यार, रिश्तों और सामाजिक मानदंडों के इर्द-गिर्द घूमती है। इसकी कहानी रोमांस, ड्रामा और भावनाओं का एक अनूठा मिश्रण है। अपनी भावनाओं और सामाजिक अपेक्षाओं के बीच फंसी एक महिला अंजलि के रूप में शिल्पा का किरदार व्यापक दर्शकों के बीच गहराई से गूंज उठा। शिल्पा की कमज़ोरी और ताकत दोनों को व्यक्त करने की क्षमता ने किरदार में गहराई जोड़ दी, जिससे भारतीय फिल्म इंडस्ट्री में एक प्रमुख अभिनेत्री के रूप में उनकी स्थिति मजबूत हो गई।

फिल्म का साउंडट्रैक बनाने वाले मशहूर म्यूजिक कंपोजर डुओ नदीम-श्रवण आज भी संगीत प्रेमियों के बीच पसंद किए जाते हैं। “दिल ने ये कहा है दिल से,” “तुम दिल की धड़कन में,” और “दूल्हे का सेहरा” जैसे गाने प्रशंसकों के दिलों में एक विशेष स्थान रखते हैं। फिल्म में प्यार, त्याग और मानवीय रिश्तों की जटिलताओं की खोज दर्शकों को बहुत पसंद आई, जिससे 23 साल बाद भी इसकी प्रासंगिकता बनी रही।

“धड़कन” में शिल्पा शेट्टी का अंजलि का किरदार आज भी प्रेरित और मनोरंजन करता है। यह प्रतिष्ठित फिल्म हमें शानदार कहानी, शानदार प्रदर्शन और स्क्रीन पर एक साथ आने वाले खूबसूरत संगीत की याद दिलाती है।

वहीं शिल्पा शेट्टी के वर्कफ्रंट की बात करें तो उनके पास सुखी, इंडियन पुलिस फोर्स और केडी हैं, जिनकी कहानी और स्टाइल एक दूसरे से बिल्कुल अलग है। उनके प्रशंसक उन्हें इन तीन लार्जर देन लाइफ प्रोजेक्ट्स में देखने का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं।

advertisement at ghamasaana