स्क्रैप पॉलिसी में बदलाव, घर बैठे कैसे कराएं अपने पुराने वाहन को स्क्रैप, जानिए

India’s Vehicle Scrapping Policy
3 0

यदि आपका डीजल वाहन 10 साल पुराना और पेट्रोल वाहन 15 साल पुराना हो गया तो आप उस वाहन को सड़क पर नहीं चला सकते हैं। ऐसा प्रदूषण रोकने के लिए किया गया है। इसके बाद सरकार ने ऐसी सुविधा दी है कि आपको अधिक परेशान नहीं होना पड़ेगा। घर बैठे ही आप अपने पुराने वाहन को स्क्रैप कर सकते हैं। आइए जानते हैं कैसे।

यदि आपका वाहन पुराना हो गया है और परिवहन विभाग ने उसका पंजीकरण रद्द कर दिया है तो आप अपने वाहन को घर बैठै स्क्रैप करा सकते हैं। इसके लिए आपको एनसीआर के शहरों में मौजूद पंजीकृत वाहन स्क्रैपिंग की सुविधा लेनी होगी। केंद्र सरकार द्वारा अधिकृत 13 आरवीएसएफ यूनिट वाहनों को स्क्रैप करेगी। इसके लिए आपको वेबसाइट पर ऑनलाइन स्क्रैप करवाने के लिए बुकिंग करवानी होगी। सरकार की इस वेबसाइट पर पूरे देश के स्क्रैप डीलरों की सूची दी गई है।

बता दें दिल्ली में काम कर रहे आठ स्क्रैप डीलरों लाइसेंस निरस्त किए जा चुके हैं। अब केंद सरकार ने जो दिशा निर्देश जारी किया है उसके अनुसार दिल्ली में किसी भी डीलर के लिए लाइसेंस लेना आसान नहीं होगा। प्रदूषण के चलते पर्यावरण विभाग ऐसी अनुमति नहीं देता है, जबकि नए नियम के अनुसार जिस राज्य में स्क्रैप डीलर का लाइसेंस है उसी राज्य में उसका वर्कशाप होना अनिवार्य होगा।

दिल्ली में भले ही कोई यूनिट न हो लेकिन एनसीआर में 13आरवीएसएफ यूनिट चल रही है। परिवहन विभाग के अनुसार वेबसाइट पर जाकर आवेदन करने से आरवीएसएफ की लिस्ट सामने आ जाएगी। आप अपने वाहन का फोटो भेजकर रेट तय कर सकते हैं। पंजीकृत स्क्रैप डीलर आवेदन करने वाले के घर आकर वाहन ले जाएंगे।

advertisement at ghamasaana