बिजली के खंभे लगवाने गए जेई यमुना नदी में बहे, सर्च ऑपरेशन के बावजूद नहीं चला पता

0 0

सहारनपुर । यमुना नदी में बाढ़ में बह गए बिजली के खंभों को ठीक कराने पहुंचे विद्युत उपग्रह केंद्र सलेमपुर के जेई प्रमोद कुमार पानी के तेज बहाव में बह गए। जिलाधिकारी सहित बिजली विभाग के सभी अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं।

पठेड बिजली घर से संबंधित गांव सोंधेबास तथा गाजदीनपुर में बिजली चिलकाना क्षेत्र से पहुंचती है। पिछले सप्ताह यमुना में आई बाढ़ से नदी में खड़े पां खंबे गिर गए थे। एक सप्ताह से यमुनापार के दोनों गांव में विद्युत आपूर्ति बंद थी। विद्युत आपूर्ति सुचारू करने के लिए सलेमपुर बिजलीघर से संबंधित अवर अभियंता प्रमोद कुमार विभागीय टीम के साथ नदी में पहुंचे थे।

नदी में गिर गए खंभों को ठीक कराते समय अवर अभियंता नदी के पानी में चले गए। उसी समय तेज बहाव के चलते अवर अभियंता नदी में बह गए। नदी में कार्य कर रहे विद्युत विभाग के कर्मचारियों ने शोर मचाया तथा आसपास के लोगों को एकत्र किया। कर्मचारियों ने जिले के विभागीय अधिकारियों को सूचना दी।

सूचना मिलते ही विद्युत विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंच गए। जिलाधिकारी डा दिनेश चन्द भी जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ गांव टोडरपुर पहुंच गए हैं। नदी का बहाव टोडरपुर की तरफ होने के कारण जेई को यहां पर तलाश किया जा रहा है। एनडीआरएफ की टीम को बुलाया गया है। अभी तक जेई का कोई पता नहीं चल पाया है।

लखनऊ के निवासी थे प्रमोद
जेई प्रमोद कुमार मूलरूप से लखनऊ के निवासी थे। उनके दो बच्चे हैं। बडी लडकी कक्षा 10 में पढ रही है। छोटा लडका कक्षा छः में पढ रहा है। दो वर्ष पहले ही वह सलेमपुर बिजली घर नियक्त हुए थे।

advertisement at ghamasaana