अनिल कपूर नई पीढ़ी को ‘फाइटर’ बनने के लिए प्रेरित करते हैं

0 0

45 साल के करियर के साथ, मेगास्टार अनिल कपूर हिंदी फिल्म में आर्टिस्टिक स्किल्स और डेडिकेशन के आइकॉन हैं।

अपने टाइमलेस इन्फ्लुएंस के टेस्टामेंट के रूप में, कपूर अपने वर्क एथिक और अपने क्राफ्ट के प्रति कमिटमेंट से अभिनेताओं की युवा पीढ़ी को प्रेरित करना जारी रखते हैं।

फाइटर के प्रमोशन के दौरान, को-स्टार ऋतिक रोशन ने एक्टर के रूप में उनकी जर्नी पर कपूर के प्रभाव को अपना ट्रिब्यूट दिया। रोशन ने कहा, “मैंने सिड (सिद्धार्थ आनंद) से कहा कि मैं भगवान से प्रार्थना करता हूं कि मैं अपने अंदर उस तरह का पावर बनाए रख सकूं और उस तरह का पावर स्क्रीन पर ला सकूं।”

ब्लॉकबस्टर फिल्म एनिमल में उनके कोलैबोरेशन पर विचार करते हुए, रणबीर कपूर ने अनिल की एनर्जी की प्रशंसा की और अनुभव को सीखने का एक जबरदस्त अवसर बताया।

उन्होंने अनिल कपूर के बारे में कहा, “उनके पास सहजता से अलग-अलग वेरिएशन देने, अलग-अलग इमोशन्स के बीच स्विच करने और अपने किरदारों को प्रामाणिकता के साथ जीवंत करने की बेहतरीन क्षमता है। एके के साथ काम करना एक ऐसा अनुभव है, जिसे मैं कभी नहीं भूलूंगा।”

दिल धड़कने दो में कपूर के साथ काम करने वाले रणवीर सिंह ने उन्हें कहा “एक जायंट परफ़ॉर्मर, एक लीजेंड और हिंदी सिनेमा के बेहतरीन कलाकारों में से एक।” जुगजुग जीयो में कपूर के साथ स्क्रीन साझा करने के बाद वरुण धवन ने उन्हें एक इंस्टिट्यूशन और यंगर एक्टर्स के लिए एक रोल मॉडल के रूप में स्वीकार किया।

धवन ने कपूर के पैशन, फिटनेस और दृढ़ संकल्प को उन क्वालिटीज के रूप में हाईलाइट किया, जो उन्हें महत्वाकांक्षी आर्टिस्ट्स के लिए एक आइडियल फिगर बनाते हैं।

एक्टर अनिल कपूर की लेगसी पीढ़ियों के लिए एक गाइडिंग लाइट बन जाती है, जो दर्शाती है कि मनोरंजन की लगातार विकसित हो रही दुनिया में पैशन, वास्तविकता और समर्पण टाइमलेस क्वालिटीज हैं।

advertisement at ghamasaana