जिस तारीख को की थी हत्या उसी तारीख को हुई आजीवन कारावास की सजा

court
0 0

बिजनौर। अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश डॉ. विजय कुमार तालियान ने स्वतंत्रता दिवस के दिन कॉलेज में ध्वजारोहण के लिए गए अमन सिंह की ध्वजारोहण स्थल पर ही गोली मारकर हत्या करने का दोषी पाते हुए जगवीर सिंह को आजीवन कारावास व तीन लाख 20 हजार रुपये अर्थदंड की सजा सुनाई है। स्वतंत्रता दिवस के दिन कॉलेज में हुए इस हत्याकांड से भगदड़ मच गई थी।

शासकीय अधिवक्ता जितेंद्र पाल सिंह राजपूत के अनुसार अनुज निवासी धोकलपुर ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि गांव के ही धीर सिंह जौली से उसके परिवार की रंजिश चल रही है। 15 अगस्त 2015 की सुबह करीब सात बजे उसके पिता अमन सिंह गांव के ही जनता इंटर कॉलेज में ध्वजारोहण के कार्यक्रम में गए थे। कॉलेज में गांव का ही जगवीर उर्फ पप्पू व उसका पुत्र अंकुर तथा दो अज्ञात आदमी उनके साथ मौजूद थे। इन लोगों ने उसके पिता अमन सिंह को गालियां देनी शुरू कर दीं। अमन सिंह ने गाली देने से मना किया तो जगवीर व उसके पुत्र अंकुर ने अपनी अंटियों से तमंचा निकालकर गोली चला दी।

जगवीर की गोली अमन सिंह के सिर में लगी व अंकुर द्वारा चलाई गई गोली अमन सिंह के साथी हेमेंद्र को लगी। जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया। गोली लगने से अमन सिंह की मौके पर मौत हो गई और कॉलेज में भगदड़ मच गई। इस हत्या में धीर सिंह उर्फ जौली भी शामिल था। इस मामले में पुलिस में रिपोर्ट दर्ज होने के बाद पुलिस ने जगवीर व उसके पुत्र अंकुर से जंगल में बनी कोठरी से घटना में प्रयुक्त तमंचे व कारतूस बरामद किए थे। मुकदमे की सुनवाई के दौरान धीर सिंह व अंकुर की मौत हो गई। कोर्ट ने जगवीर को अमन सिंह की हत्या व हेमेंद्र पर जानलेवा हमले का दोषी पाते हुए सजा सुनाई है।

अमन हत्याकांड की सुनवाई के दौरान हत्या के दो आरोपियों अंकुर व धीर सिंह की भी गोली मारकर हत्या कर दी गई। इस हत्या का मुकदमा अभी अदालत में विचाराधीन है। अमन सिंह हत्याकांड में अंकुर व धीर सिंह के विरूद्ध भी चार्जशीट दाखिल की गई थी। नौ जून 2021 को दिन में साढ़े आठ बजे धीर सिंह, अंकुर परिवार की महिलाओं के साथ ट्रैक्टर से जंगल से वापस आ रहे थे।

इस दौरान एक सफेद रंग की कार ट्रैक्टर को ओवरटेक करके आई और उसमें सवार लोगों ने उतरकर गोलाबारी की। जिससे अंकुर व धीर सिंह की मौके पर ही मौत हो गई थी। इस हत्याकांड में मृतक अमन सिंह के लड़के नितिन एवं अनुज सहित कृष्णा, विवेक, लवली आदि के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। यह मुकदमा अदालत में विचाराधीन है।

advertisement at ghamasaana