नाबालिग की मौत व सेलाकुई में दुष्कर्म पर आयोग अध्यक्ष ने लिया संज्ञान

dehradun news
0 0

देहरादून। रेसकोर्स स्थित फ्लैट में आज सुबह एक नाबालिग का शव मिलने के मामले में राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष ने संज्ञान लिया है। मामला देहरादून के रेस कोर्स स्थित एक शिक्षिका के फ्लैट का है जिसमे नाबालिग नौकरानी का काम करती थी। आज सुबह संदिग्ध परिस्थितियों में उक्त नाबालिग किशोरी का शव बाथरूम से पाया गया है। मामले की जानकारी मिलते ही आयोग अध्यक्ष कुसुम कण्डवाल ने संज्ञान लेते हुए एसएसपी देहरादून से फोन पर वार्ता की।

उन्होंने डीआईजी पी रेणुका से कहा कि उक्त नाबालिग किशोरी की मौत के कारणों की स्पष्ट जांच की जाए।
उन्होंने एसएसपी देहरादून को कड़ाई से निर्देश देते हुए कहा कि यदि उक्त नाबालिक ने सुसाइड किया है तो उसके सोसाइड के कारणों की जांच होनी चाहिए और यदि जांच में पाया जाता है कि सोसाइड नहीं की बल्कि अन्य कारणों से उक्त नाबालिग की मृत्यु हुई है तो उसमे संलिप्त आरोपियों के विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाए। सभी तथ्यों की स्पष्ट जांच हो। यदि मामले में नाबालिग के साथ कही भी कुछ गलत कृत्य किया गया हो तो उक्त मामले के आरोपियों के विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए। साथ ही नाबालिग से इस प्रकार से अपने फ्लैट में नौकरी करवाने वालो के व उसके माता पिता के विरुद्ध भी उक्त धाराओं में मामला लिखा जाना चाहिए।

वहीं सेलाकुई निवासी एक 14 वर्षीय नाबालिग के साथ मुस्लिम युवक फरमान द्वारा इंस्टाग्राम पर कक्षा आठ की किशोरी को दोस्ती की आड़ में बहला फुसला कर दुष्कर्म के मामले में महिला आयोग की अध्यक्ष कुसुम कण्डवाल ने सख्त रुख करते हुए प्रकरण में एसओ सेलाकुई व एसएसपी देहरादून से फोन पर वार्ता की।

मामले में पीड़िता ने अपने माता पिता सहित आयोग अध्यक्ष कुसुम कण्डवाल से कार्यालय में मुलाकात की । इस दौरान उन्होंने जानकारी दी कि पीड़िता सेलाकुई के जूनियर हाईस्कूल में पढ़ती है जहां से आरोपी फरमान द्वारा उसे अपने परिचित ऑटो रिक्शा से एक कमरे में ले गया जहां उसने उसके कपड़े बदलवाए उसे बहला फुसलाकर पीड़िता के साथ दुष्कर्म किया। पीड़िता ने बताया कि वहीं एक महिला भी थी जो कि ठीक नही थी।

उक्त मामले में आयोग की अध्यक्ष कुसुम कण्डवाल ने एसओ सेलाकुई, एसएसपी देहरादून से फोन पर वार्ता करते हुए सभी आरोपियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए है। उन्होंने कहा कि मामले में सभी पहलुओं से जाँच की जाए और यदि इस मामले में कोई भी अन्य संलिप्त है या यह मामला तस्करी से संबंधित है तो इसकी गंभीरता से कार्रवाई की जाए। जिसमें एसएसपी ने जानकारी देते हुए बताया कि मामले के आरोपी फरमान को पोक्सो के अंतर्गत गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

advertisement at ghamasaana