एक फसल के साथ करें इसकी खेती, बहुत कम समय में हो जाएंगे करोड़पति

malabarneem
2 0

आजकल हर कोई पैसा कमाने के तरीके ढूंढ रहा है। अब वह चाहे आम आदमी हो या फिर किसान ही क्यों न हो। किसानों के लिए समस्या यह है कि अब एक फसल में उनका फायदा नहीं हो रहा है। लिहाजा अब अधिकतर किसान सहफसली के बारे में सोचने लगे हैं। इसके बाद भी किसानों के सामने एक समस्या हर समय रहता है कि वह सहफसली में किस चीज की खेती करें जिससे उनको अधिक फायदा हो।

इसको लेकर किसानों के सामने हर समय असमंजस की स्थिति रहती है। क्योंकि ऐसे कई पेड़ है जिनसे अच्छा पैसा कमा सकते हैं। जैसे कि सागौन, और सफेदा आदि के पेड़ । इन दोनों पेड़ों की मांग बहुत है पर इनके फायदे हैं तो नुकसान भी हैं। सागौन तैयार होने में 25 साल का समय लेता है और सफेदा के पेड़ को पानी की बहुत आवश्यकता पड़ती है। जिस वजह से ये खेत की नमी को सोख लेता है जिससे फसल पर प्रभाव पड़ता है। तो अब हम आपको एक पेड़ के बारे में बताने जा रहे हें जो बहुत ही कम समय में पैदा होता है और यह खेत को नुकसान भी नहीं पहुंचाता है।

हम बात कर रहे हैं मालाबार नीम के पेड़ की। यह पेड़ साधारण नीम से थोड़ा अलग होता है। इसकी खेती सभी तरह की मिट्टी में आसानी से की जा सकती है। इसके लिए ज्यादा पानी की भी आवश्यकता नहीं पड़ती। ये कम पानी में ही अच्छे से ग्रो कर सकता है।

कब करें इसकी बुवाई
इसका बीज मार्च और अप्रैल माह के दौरान बोना सबसे अच्छा माना जाता है। यह पेड़ बहुत तेजी से विकास करता है।

कहां इसकी लकड़ी का होता है प्रयोग
मालाबार नीम की लकड़ी की भारतीय बाजारों में बहुत मांग होती है। इसकी लकड़ी प्लाईवुड उद्योग के लिए सबसे पसंदीदा प्रजाति मानी जाती है।

कैसे करें खेती
मालाबार नीम के चार एकड़ में पांच हजार पेड़ लगा सकते है। जिसमें से दो हजार पेड़ खेत के बाहर वाली मेड़ पर और तीन हजार पेड़ खेत के अंदर मेड़ पर लगा सकते हैं।

कितना होता है फायदा
मालाबार नीम के पेड़ों की लकड़ी को आठ वर्ष के बाद बेच सकते हैं। आप इसकी खेती कर चार एकड़ में करके आसानी से 50 लाख रुपये तक कमा सकते हैं।

advertisement at ghamasaana