प्रोटेक्‍शन सिस्‍टम मजबूत करे पिटकुल : तोमर

0 0

देहरादून। यूपीसीएल की सेलाकुई लाइन में फोर पोल में लगे इंसुलेटर में रविवार शाम ब्‍लास्‍ट होने से प्रेमनगर, सेलाकुई और धूलकोट क्षेत्र में बिजली सप्‍लाई ठप होने से हजारों लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। साथ ही उद्यमियों को भी नुकसान उठाना पड़ा। लघु उद्योग भारती संगठन ने इस पर नाराजगी जताते हुए पिटकुल से प्रोटेक्‍शन सिस्‍टम मजबूत करने का आग्रह किया।

सोमवार को लघु उद्योग भारती उत्तराखंड के प्रांत कार्यालय में आयोजित बैठक में प्रांत अध्‍यक्ष विजय सिंह तोमर ने कहा कि सप्‍लाई बाधित होने से सेलाकुई स्थित उद्योगों में काम ठप होने से उद्यमियों को आर्थिक नुकसान उठाना पड़ा। लेकिन, इस परेशानी के लिए पिटकुल और यूपीसीएल एक-दूसरे पर जिम्‍मेदारी डाल रहे हैं। जबकि सच्‍चाई यह है कि, लाइनों में फाल्‍ट तो आएंगे ही। कभी तारों में पक्षी उलझने से लाइनें ट्रिप होंगी। कभी लाइनों पर टहनियां टूटने या बरसात में कटाव लगने से पोल बहने से लाइनें ट्रिप होंगी। लेकिन, पिटकुल को अपना प्रोटेक्‍शन सिस्‍टम मजबूत करना चाहिए। यूपीसीएल की 33 केवी लाइनों के लिए ही पिटकुल सब स्‍टेशन में प्रोटेक्‍शन सिस्‍टम लगता है।

संगठन के संरक्षक एवं पूर्व प्रांत अध्‍यक्ष कैलाश मैलाना ने कहा कि पिटकुल को समय रहते बैट्ररियों, सर्किट ब्रैकर आदि की जांच कर मरम्‍मत करनी चाहिए। ताकि ऐसी परेशानियों से बचा जा सके। संगठन के महामंत्री राजीव गोयल ने कहा कि झाझरा क्षेत्र में छह दिन में यह दूसरा हादसा है। बुधवार को पिटकुल सब स्‍टेशन में ब्रेकर में आग लग गई थी।

उसके बाद रविवार को इंसुलेटर में ब्‍लास्‍ट हो गया। यह संबंधित अधिकारियों की लापरवाही है। बैठक में प्रदीप खंडूरी, नवीन डबराल, राहुल दंड, कर्नल रूपकुमार शर्मा, आलोक सारस्‍वत, सुमित अग्रवाल, पुरुषोत्‍तम अग्रवाल, अनुप भटट, अभय अग्रवाल, अनिल कुमार शर्मा, राजेश जायसवाल आदि मौजूद रहे।

advertisement at ghamasaana